One Life to Live.

I got hurt, then I stood strong 💪 I was lied to, then I learnt that it takes courage to speak the truth.

I am still the same.

I am still the same,whom you chose years ago, To stay with me, you let off all things go. We being childish sometimes, and never wanted to grow, Its this time now, when you never show. The magical touch,and the heart were talking then, Though distant apart, why are we thinking of words and becoming…

A thousand miles

In the corridor, I see millions of faces, And I see a thousand smiles. Follow my shadow,

Kuch na kaho

कुछ ना कहो तुम हमसे , जखम उभर जाता है , कितने फूल खिलने से पहले, कली टूट जाता है। . आईना मैं देखूँ जब भी, एक अक्स दिख जाता है। जो अक्स ना दिखे मुझे, वो शीशा टूट जाता है। . बारिश से भी पहले, आसमां धक जाता है। क्या चाँद, क्या सितारें, उनके…

Noor

कुछ नूर तुम्हारा तुमसे है, कुछ नूर तुम्हारा मुझसे है। जितना चाहे इंकार कर लो, पर कुछ बात तुम्हारी तुमसे है, कुछ बात तुमहरी हमसे है। ________________________

Kaun kahega mujhe ?

कौन कहेगा मुझे कहाँ है चलना, सफ़र बड़ी है, मुझे नहीं थेहरना, मौसम बदलेगा, मुझे नहीं डरना, फिज़ाओं से मुझे, बातें बहुत करना। ** आते जाते लोगों के, आँखों में है तकना, पलकें झुक रही, शर्म क्यूँ करना, एक ही है जिंदगी, पूरी तरह जीना, खुली किताब हूँ मैं, सभी को पढ़ना। ** बादल फटेगा…

*ऐ खुदा.. ! सुकून दिला…

मिल जाती है खुशियां मेरे जाने के बाद, आने से मेरे होता, गम ये बयान। तक़दीर मे लिखा है, खोना है तुझे, चाहने से मेरे कुछ होता नहीं। *ऐ खुदा.. ! सुकून दिला… मंज़िल से मुझे, तू तो मिला। आशियाँ मेरा, अब तो बना। *ऐ खुदा.. ! सुकून दिला… दिन के उजाले चुभती है मुझे,…

राज़

राज़ राज़ है, पन्नों पर ना लिख पाऊं, कुछ ऐसे जज्बात हैं. हर शख्स के भीतर कई और शकशियात, जैसे चेहरे पे ढका हुआ नकाब है। *** हर सुलझी चीज़ को उलझाना, और भीड़ में अचानक खो जाना, ज़िन्दगी कि रफ्तार में, इतनी शोर में अचानक खो जाना, माना इन सब के पीछे भी कुछ…

क्यूँ छोर गया तू?

मेरे हर एक पल में शामिल था तू, दोस्ती का आघाज़ कर, फ़साना अधूरा छोर गया तू, बीते लम्हों में कितनी मस्ती करी हमने साथ, आने वाले लम्हों में क्यूँ छोर गया तू? *** दोस्ती में तेरी वफ़ाई ना रही, साथ निभाने कि‍ खुदायी ना रही जिंदगी क्या रूठी तुमसे, कि साथ चलने की जगह…